Alone Tanhai Sad Shayari Tanhai Se Ab Mohhabat Si Ho Gayi

Alone Tanhai Sad Shayari Tanhai Se Ab Mohhabat Si Ho Gayi

“तन्हाई किसी का इंतज़ार नहीं करती,

किस्मत कभी बेवफाई नहीं करती,

उनसे दूर होने का असर है वरना,

परछाई कभी जिस्म पर वार नहीं करती…”


“Tanhai kisi ka intezar nahi karti,
Kismat kabhi bewafai nahi karti
Unse door hone ka asar hai warna,
Parchai kabhi jism par waar nahi karti…”

Tanhai Se Ab Mohhabat Si Ho Gayi
Tanhai Se Ab Mohhabat Si Ho Gayi

किसी का दिल दुखा कर अपने लिए खुशियों का उम्मीद मत रखना


Kisi ka Dil Dukha kar Apne Liye Khushiyo ka Umeed Mat Rakhna


“अब इंतज़ार एक आदत सी होगई है

ख़ामोशी से एक चाहत सी हो गई है

न शिकवा न शिकायत करने की ज़रूरत है

क्युकी इस तन्हाई से अब मोहब्बत सी हो गई है”


“Aab Intezar Ek Aadat Si Hogai Hai
Khamoshi Se Ek Caahat Si Hogai Hai
Na Shikwa Na Shikayat Karne Ki Zarurat Hai
Kyuki Is Tanhai Se Abb Mohbbat Si Hogai Hai”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top