Best Sad alone Shayari Ajab Se Wo Din Ajab Se Wo Rate

whatsapp-image

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गई है
खामोशियों की आदत हो गई है

ना शिकवों रहा ना शिकायत किसी से
अगर है तो एक मोहब्बत
जो इन तन्हाईयों से हो गई है..


Intazar Ki Arazoo Ab Kho Gai Hai
Khamoshiyo Ki Adat Ho Gai Hai

Na Shikavon Raha Na Shikayat Kisi Se
Agar Hai To Ek Mohabbat
Jo In Tanhaiyon Se Ho Gai Hai..

अकेले रहने का भी अपना ही एक सुकून है।
ना किसी के आने की ख़ुशी और ना ही किसी के छोड़ जाने का ग़म


Akele Rahne Ka Bhi Apana Hi Ek Sukun hai.
Na Kisi ke Aane Ki Khushi Aur Na Hi Kisi ke Chhod jane ka #Gam


अजब से वो दिन थे अजब सी वो रातें
तन्हाई में तन्हाई से तन्हाई की बातें।


Ajab se Wo Din the Ajab Si Wo Rate
Tanhai Mein Tanhai Se Tanhai Ki Bate.

Leave a Comment

Your email address will not be published.